May 25, 2024 1:56 am
Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

आदेशपाल बिकाऊ पासवान के सेवानिवृति पर के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में उमड़ पड़ी भीड़, बच्चों ने किया पुष्प वर्षा, कहा- हमें जो सम्मान मिली है यह अद्वितीय है

यहां क्लीक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़े

समस्तीपुर। खानपुर प्रखंड के उच्च विद्यालय हांसोपुर में रविवार को आदेशपाल के सेवानिवृति पर के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में भीड़ उमड़ पड़ी। भव्य तरीके से आयोजित विदाई समारोह आयोजित कर आदेशपाल को सम्मान के साथ विदाई दी गयी। यह देख आदेशपाल की आंखे भर आयी। आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता स्कूल के पूर्व एचएम सर्वेश्वर ठाकुर ने की, जबकि संचालन शिक्षक कुंदन कुमार मंडल ने किया। वहीं स्वागत भाषण शिक्षक दिलीप कुमार ठाकुर ने की।

हाईस्कूल परिसर में आयोजित कार्यक्रम के दौरान स्कूल परिवार के द्वारा सेवानिवृत आदेशपाल बिकाऊ पासवान को पाग, चादर, माला, अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया गया। साथ ही स्कूल के छात्र व छात्राओं के द्वारा आदेशपाल के ऊपर पुष्प वर्षा की गयी। यह क्षण देखते ही बन रहा था। इसका गवाह स्कूल परिसर में पहुंची भीड़ बनी। जिसमें हांसोपुर के अलावे आसपास के सैकड़ों लोग शामिल थे।
विदाई सह सम्मान समारोह के दौरान आगत अतिथियों, शिक्षकों, शिक्षिकाओं के आंखे नम दिखी। सेवानिवृत आदेशपाल ने समारोह में मौजूद सभी शिक्षकों, आगत अतिथियों और बच्चों का आभार प्रकट करते हुए कहा की आज हमें जो सम्मान मिली है यह अद्वितीय है। विद्यालय परिवार का प्यार, सम्मान हमेशा याद रहेगा।


वक्ताओं ने आदेशपाल के कार्यकाल की भूरी-भूरी प्रसंशा करते हुए उनके कार्यों की सराहना की।कार्यक्रम को संबोधित करते हुए एचएम संतोष कुमार चौधरी ने कहा की सेवानिवृति तो एक परम्परा है, जो अपने कर्तव्य और परायणता को सिद्ध करने का सुनहरा अवसर होता है।इनका कार्यकाल विद्यालय परिवार के लिए एक सहारा रहा है।अब हमलोगो का कर्तव्य है की हमलोग इनके जीवन की लाठी बनकर सहारा बने रहें।

शिक्षक दिलीप कुमार ठाकुर ने कहा की कोई अपने सेवा से निवृति नहीं होते है, यह तो एक परंपरा चली आ रही है।उन्होंने कहा की बिकाऊ पासवान का कार्यकाल एक कर्मठ व ईमानदार छवि के रूप में रही है। हर कर्मियों और शिक्षकों को भी अपनी सेवा के दौरान ईमानदारी व बच्चों के प्रति आदर-भाव की भावना होनी चाहिए।अध्यक्षता करते हुए पूर्व प्रधानाध्यापक सर्वेश्वर ठाकुर ने आदेशपाल की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए उन्हें एक सच्चे सेवक और कर्तव्यनिष्ठ पुरुष बताया।

उन्होंने कहा की जिस प्रकार से इन्होंने विद्यालय में ईमानदारी से योगदान देकर समाज, शिक्षक और बच्चों के चहेते बने रहे, आशा है की आगे भी बने रहेंगे। कार्यक्रम को पूर्व मुखिया राम नरेश राय, निरंजन ठाकुर, पूर्व सरपंच अशोक मंडल, शिक्षिका ठाकुर आराधना कुमारी, नेहा कुमारी, अंजुम आरा, रामसेवक चौधरी, प्रशिक्षु शिक्षिका नीतू कुमारी ने भी संबोधित किया।मौके पर पूर्व प्रधानाध्यापक रामेश्वर दास, अनिल चौधरी, रामपुकार राय, कामेश्वर पासवान, रामलखन राय आदि मौजूद थे।

doorbeennews
Author: doorbeennews

Leave a Comment