May 25, 2024 12:48 am
Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

कोरोना के नए वेरिएंट को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट, अस्पताल में इंट्री से पहले सभी को मास्क अनिवार्य

यहां क्लीक कर हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़े

समस्तीपुर। कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए अब स्वास्थ्य प्रशासन भी अलर्ट मोड में आ गया है। विभाग के अपर सचिव प्रत्यय अमृत के निर्देश के बाद सदर अस्पताल से लेकर पीएचसी तक कोरोना मरीजों के इलाज व जांच को लेकर तैयारी शुरु कर दी गयी है। ताकि कोरोना के संदिग्ध मरीज मिलने के बाद तत्काल इलाज शुरु कराया जा सके। इसको लेकर सदर अस्पताल में भी वार्ड को चिंहित किया गया है, जहां अन्य कमियों को दूर करने की दिशा में प्रक्रिया शुरु कर दी गयी है।

हालांकि बिहार में अभी तक एक भी कोरोना के नए वेरिएंट के संदिग्ध की पहचान नहीं हो पायी है। सीएस डॉ. एसके चौधरी ने बताया कि कोरोना के नए वेरिएंट की आशंका को लेकर विभाग अलर्ट मोड में है। सभी सरकारी अस्पतालों को तैयारी करने का निर्देश दिया गया है। शीघ्र ही समीक्षा की जाएगी। समीक्षा में आने वाले कमियों को दूर कर वार्ड, ऑक्सीजन, जांच आदि व्यवस्था को दुरुस्त किया जाएगा।


सदर अस्पताल में 25 बेड का वार्ड चिंहित:
कोरोना के  नए वेरिएंट को लेकर सदर अस्पताल में दो वार्डों को चिंहित किया गया है। इसमें 25 बेड लगाए जा सकते हैं। अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ. गिरीश कुमार ने बताया कि सदर अस्पताल के नशामुक्ति वार्ड एवं पीकू अस्पताल के सामान्य वार्ड को कोविड वार्ड के रुप में चिंहित किया गया है। इस दोनों वार्डों में कुल 25 बेड लगाए जाएंगे। इसमें पाइप लाइन ऑक्सीजन की भी सुविधा उपलब्ध है।


वार्ड व जांच की होगी सुविधा:
सदर अस्पताल सहित सभी सरकारी अस्पतालों में कोविड वार्ड को चिंहित करने का आदेश दिया गया है। वहीं अस्पतालों के अलावे स्टेशन, बस स्टैंड आदि स्थानों पर भी शीघ्र ही कोरोना जांच के लिए सैंपल एकत्रित किया जाएगा। फिलहाल जिले में आरटीपीसीआर जांच की सुविधा है। वहीं जांच कीट उपलब्ध नहीं होने के कारण एंटीजन जांच नहीं हो पा रही है।


ऑक्सीजन प्लांट पर भी कार्य शुरु:
सदर अस्पताल में पिछले आठ नौ महीने से ऑक्सीजन प्लांट बंद पड़ा है। प्यूरिटी की गड़बड़ी के कारण प्लांट से ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं हो पा रही है। नए वेरिएंट को देखते हुए साउंड लेस हाईपावर का जेनरेटर को स्टॉल किया गया है। वहीं अब प्यूरिटी को दुरुस्त करने को लेकर भी एजेंसी के कर्मियों के द्वारा जांच पड़ताल की गयी है। ऑक्सीजन प्लांट के लिए शनिवार को हाईपावर का जेनरेटर लगाया गया है।


अस्पताल इंट्री पर मास्क अनिवार्य:
सीएस श्री चौधरी ने बताया कि कोरोना के नए वेरिएंट को लेकर अस्पताल इंट्री करने वाले को मास्क अनिवार्य कर दिया गया है। नए वेरिएंट को देखते हुए लोगों को भी सतर्कता बरतने की अपील की गयी है। उन्होंने कहा सभी लोगों को मास्क पहनना चाहिए। ताकि नए वेरिएंट के असर को रोका जा सकें। साथ ही पूर्व की तरह कोविड के नियमों का पालन करते हुए इसके प्रसार को रोका जा सकता है।


सीएस डॉ एसके चौधरी ने बताया कि कोरोना के नए वेरिएंट को लेकर दिशा निर्देश दिया गया है। अस्पतालों में वार्डों की तैयारी व ऑक्सीजन की व्यवस्था सुनिश्चित करने को कहा गया है। शीघ्र ही जांच की सुविधा भी कई स्थानों पर होगी। अस्पताल आने वाले को मास्क अनिवार्य किया गया है। इसको लेकर सभी अस्पताल के प्रभारी को निर्देश दिया गया है।

doorbeennews
Author: doorbeennews

Leave a Comment