May 26, 2024 1:39 pm
Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

उजियारपुर लोकसभा के 561 माइक्रो आब्जर्वर एवं रोसड़ा के 1528 मतदान कर्मियों को दी गयी ट्रेनिंग

यहां क्लीक कर व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़े

दूरबीन न्यूज डेस्क। उजियारपुर लोकसभा के 561 माइक्रो आब्जर्वर एवं रोसड़ा के 1528 मतदान कर्मियों को दी गयी ट्रेनिंग। लोक सभा क्षेत्र समस्तीपुर एवं उजियारपुर के मतदान केन्द्रों पर सफलतापूर्वक मतदान कराने हेतु मतदान पदाधिकारियों एवं माइक्रो आब्जर्वर का प्रशिक्षण वरीय उपसमाहर्ता सह जिला प्रशिक्षण कोषांग के नोडल पदाधिकारी के निर्देशन में संत कबीर महाविद्यालय में कराया गया।

प्रथम पाली में लोक सभा क्षेत्र समस्तीपुर के रोसड़ा विधानसभा के कुल 349 मतदान केन्द्रों पर प्रतिनियुक्त 1528 मतदान पदाधिकारियों तथा द्वितीय पाली में लोक सभा क्षेत्र समस्तीपुर एवं उजियारपुर के नौ विधानसभा क्षेत्र के मतदान केन्द्रों के लिए प्रतिनियुक्त 561 माइक्रो आब्जर्वर का प्रशिक्षण विभिन्न प्रशिक्षण कक्षों में कराया गया।

प्रशिक्षण का संचालन मुख्य मास्टर ट्रेनर सतीश कुमार यादव के नेतृत्व में जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनरों द्वारा किया गया। प्रथम पाली में जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनरों के द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे मतदान पदाधिकारियों को उनके कर्तव्यों एवं कार्यों के बारे में जानकारी देते हुए बताया गया कि मतदान पदाधिकारी के रूप में आपके मतदान केन्द्र पर निर्वाचन संचालन में महत्वपूर्ण भूमिका है।

पीठासीन पदाधिकारियों को वास्तविक मतदान के दिन उनके प्रभाराधीन मतदान केन्द्र के कार्यवाही को नियंत्रित करने हेतु सम्पूर्ण शक्तियां प्राप्त होती है। किसी मतदान केन्द्र पर स्वतंत्र एवं निष्पक्ष मतदान सुनिश्चित करना उस मतदान केन्द्र पर प्रतिनियुक्त सभी मतदान पदाधिकारियों का प्रमुख कर्तव्य एवं उत्तरदायित्व है।

साथ ही मतदान केन्द्र में घटित होने वाली समस्त गतिविधियों के प्रति सभी मतदान पदाधिकारी पूर्ण रूप से उत्तरदायी होते है। इसके अलावे सभी प्रशिक्षुओं को मॉक पोल कराना , माॅक पोल को मिटाना, मतदान हेतु ईवीएम सील कर तैयार करना, पीठासीन का रिपोर्ट, पीठासीन की घोषणा, पीठासीन की डायरी, मत-पत्र लेखा, मतदाता रजिस्टर इत्यादि प्रपत्रों के नमूनों के बारे में सभी प्रशिक्षुओं से संधारित कराया गया।

साथ ही मतदान केन्द्रों पर निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण मतदान संपन्न कराने हेतु मतदान के पूर्व, दौरान एवं मतदान के पश्चात किये जाने वाले सावधानियों के साथ-साथ निविदत्त मत , चैलैंज्ड वोट, टेस्ट वोट सहित अन्य सभी बातों की विस्तृत जानकारी दी गई।

सभी पीठासीन पदाधिकारी, प्रथम मतदान पदाधिकारी एवं द्वितीय मतदान पदाधिकारी को प्रशिक्षण कोषांग द्वारा मतदान पदाधिकारियों के लिए मुद्रित कराई गई। सहायक – पुस्तिका का वितरण किया गया। वहीं प्रशिक्षण स्थल पर सभी प्रशिक्षुओं को प्रशिक्षणोपरांत हैण्डस ऑन ट्रेनिंग भी कराया गया।

द्वितीय पाली में लोक सभा क्षेत्र उजियारपुर एवं समस्तीपुर के नौ विधानसभा क्षेत्र के मतदान केन्द्रों के लिए प्रतिनियुक्त कुल 561 माइक्रो आब्जर्वरों को दोनों लोक सभा क्षेत्र के सामान्य प्रेक्षक ने उनके कार्यों के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतदान केन्द्रों पर स्वतंत्र एवं निष्पक्ष निर्वाचन कार्य के प्रबंधन हेतु चिन्हित मतदान केन्द्रों पर प्रतिनियुक्त माइक्रो आब्जर्वर की नियुक्ति की जाती है।

ताकि प्रेक्षक का तंत्र मजबूत हो सके। माइक्रो आब्जर्वर मुख्य प्रेक्षक के नियंत्रण एवं निर्देशन में कार्य करेंगे। माइक्रो आब्जर्वर का मुख्य कार्य वास्तविक मतदान के दिन आवंटित मतदान केन्द्र पर मतदान की तैयारियों का आकलन तथा सूक्ष्मता से अवलोकन करते हुए मतदान केन्द्र पर स्वतंत्र एवं निष्पक्ष मतदान संपन्न कराना।

यदि उन्हें किसी मतदान केन्द्र पर यह महसूस हो कि किसी कारणवश मतदान दूषित हुआ है तो उसे तुरंत सामान्य प्रेक्षक की जानकारी में लाये। माइक्रो आब्जर्वर को अपने आवंटित मतदान केन्द्र पर माॅक पोल, मतदान अभिकर्ताओं की नियुक्ति, उनकी उपस्थिति,उनका आचरण और उनसे संबंधित निर्देशों का पालन, प्रथम मतदान पदाधिकारी द्वारा सही मतदाताओं की पहचान सुनिश्चित कराना है।

मतदाताओं को द्वितीय मतदान पदाधिकारी द्वारा लगाए जा रहे अमिट स्याही, 17-ए रजिस्टर में मतदाताओं की जानकारी दर्ज करना, मतदान की गोपनीयता, वास्तविक मतदान से पूर्व और समाप्ति के बाद ईवीएम मशीन को सील करना सहित अन्य निर्देशों का सूक्ष्मता से अवलोकन करते हुए स्वतंत्र, शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष मतदान संपन्न कराना।

वहीं मतदान प्रक्रिया के उपरांत माइक्रो आब्जर्वर को मुख्य प्रेक्षक को संग्रहण केन्द्र पर जाकर अपने आवंटित विधानसभा के मतदान केन्द्र की संपूर्ण जानकारी की रिपोर्ट लिफाफे में रख कर स्वयं सौंपेंगे तथा उस दिन घटित किसी भी महत्वपूर्ण घटना का सार संक्षेप में उन्हें देंगे।

जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनरों द्वारा साथ सभी माइक्रो आब्जर्वर को पूरे मतदान प्रक्रिया तथा माॅक पोल कराने की विधि,माॅक पोल के उपरांत ईवीएम में डाले गए मतों को सी० आर० सी० प्रक्रिया द्वारा डिलीट करना तथा ईवीएम मशीन को सील करने की जानकारी भी दी गई।

प्रशिक्षण में प्रशिक्षण कोषांग के शिक्षा विभाग के डीपीओ प्राथमिक शिक्षा एवं सर्व शिक्षा अभियान मानवेन्द्र कुमार राय, डीपीओ स्थापना कुमार सत्यम, डीपीओ योजना एवं लेखा योजना नितेश कुमार
, प्रशिक्षण कोषांग के सहायक प्रशासी पदाधिकारी मनोज कुमार झा तथा जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर श्रीनाथ ठाकुर, राजेश कुमार, मनीष चन्द्र प्रसाद,

विश्वनाथ सिन्हा, अरूण कुमार, सुनील कुमार महतो,कपिलेश्वर प्रसाद सिंह, तनवीर आलम, मंगलेश कुमार, मनिंदर सिन्हा, अशोक कुमार, राम किशोर राय, प्रवीण कुमार सिन्हा, अनुपम कुमार सिन्हा, चन्द्रमणि कुमार, राम कुमार पासवान, अमरेन्द्र कुमार, राजीव कुमार झा, मदन प्रसाद कर्ण, विरेन्द्र झा, विनोद कुमार, कौशल कुमार, हरिनारायण राम, राकेश रंजन,

राम दयाल सिंह, सुनील कुमार सिंह, संजीत कुमार चौधरी, विष्णुदेव राय, अमरनाथ दास, , पवन कुमार साफी, मधुप कुमार, निर्मल कुमार, सत्यनारायण प्रसाद सिंह, मनमोहन चौधरी, राजेश कुमार, कौशल किशोर क्रांति, अविनाश कुमार, पवन शंकर भारद्वाज, सरोज कुमार झा, अशोक पासवान, विनोद कुमार, अरविंद कुमार, राम प्रकाश साहू, नवीन चन्द्र सिंह,

कुमार अनुशीलन, राजीव कुमार, जय कुमार, विवेकानन्द कर्मशील, मिन्टू कुमार, अमित कुमार, मो फरहाद, मो एजाज अहमद अंसारी, विकास कुमार, मिथिलेश कुमार शर्मा, ब्रजनंदन राम, संजय कुमार, अंजनी कुमार पाण्डेय , रोहित कुमार, संजीव कुमार, विश्वामित्र प्रसाद, श्याम नंदन यादव, रामबालक राय सहित अन्य जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर उपस्थित थे।

समस्तीपुर में बकरी चराने गया बच्चा गायब, डूबने की आशंका पर एसडीआरएफ टीम भी घण्टो की खोज नहीं चला पता

doorbeennews
Author: doorbeennews

1 thought on “उजियारपुर लोकसभा के 561 माइक्रो आब्जर्वर एवं रोसड़ा के 1528 मतदान कर्मियों को दी गयी ट्रेनिंग”

Leave a Comment